डिजिटल मार्केटिंग कितने प्रकार के होते हैं?

डिजिटल मार्केटिंग कितने प्रकार के होते हैं? : Types Of Digital Marketing In Hindi – TechyHindi

दोस्तों आज के इस ब्लॉग मे हम जानने वाले है की डिजिटल मार्केटिंग कितने प्रकार के होते हैं? ( Types Of Digital Marketing In Hindi ) ताकि अगर आप डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करने के प्लान मे है तो जान सके की module क्या होता है जिसके बारे मे पढ़ाया जाएगा।

तो चलिए बिना समय गवाये जानते है की डिजिटल मार्केटिंग कितने प्रकार के होते हैं?

डिजिटल मार्केटिंग कितने प्रकार के होते हैं? ( Types Of Digital Marketing In Hindi )

डिजिटल मार्केटिंग निम्न प्रकार के होते है –

( Digital Marketing Types Hindi ) –

  • सर्च इंजन आप्टमज़ैशन ( Search Engine Optimization )
  • सोशल मीडिया मार्केटिंग ( Social Media Marketing )
  • यूट्यूब मार्केटिंग ( YouTube Marketing )
  • ईमेल मार्केटिंग ( Email Marketing )
  • पे पर क्लिक ( Pay Per Click )
  • अफिलीएट मार्केटिंग ( Affiliate Marketing )
  • अर्न मनी ( Earn Money )
  • एप्पस आप्टमज़ैशन ( Apps Optimization )

अब चलिए इसके बारे मे डीटेल मे जानते है की आखिर मे इसका उपयोग कहाँ पर होता है और इसका डिजिटल मार्केटिंग मे क्या उपयोग है –

सर्च इंजन आप्टमज़ैशन ( Search Engine Optimization )

इस टाइप मे आप किसी बिजनस वेबसाईट या ब्लॉग वेबसाईट को किसी एक कीवर्ड पर रैंक करने का काम करते है जिससे की उस बिजनस वेबसाईट या ब्लॉग वेबसाईट मे ऑर्गैनिक ट्राफिक आए और आपका कन्वर्शन बने।

सर्च इंजन आप्टमज़ैशन सबसे बढ़िया काम करता है क्योंकि इसमे आपको ऑर्गैनिक ट्राफिक का भंडार लग जाता है, जैसे इसका उदाहरण ये है की आप अभी इंटरनेट पर सर्च कीये की डिजिटल मार्केटिंग के कितने प्रकार होते हैं? और आपके सामने ये वेबसाईट आया।

मतलब ये की इस ब्लॉग पोस्ट को डिजिटल मार्केटिंग के कितने प्रकार होते हैं? वाले कीवर्ड पर Optimize किया गया है जिससे की ये इंटरनेट पर रैंक कर रहा है और वहाँ से मेरे वेबसाईट मे ट्राफिक आ रहा है तो डिजिटल मार्केटिंग के सर्च इंजन आप्टमज़ैशन वाले टाइप मे इसी के बारे मे पढ़ाया जाता है।

सोशल मीडिया मार्केटिंग ( Social Media Marketing )

इस टाइप मे आपको सोशल मीडिया पर अपना बिजनस को कैसे प्रमोट करे उसके बारे मे पढ़ाया जाता है, जैसे की आप फेसबूक या इंस्टाग्राम चलाते है तो उसमे Ads दिखता है तो उसी को सोशल मीडिया मार्केटिंग कहते है और आपको भी अपना बिजनस के लिए Ads चलाना होगा।

अगर आप डिजिटल मार्केटिंग एजेंसी खोलते है तो उसमे ये भी सबसे बड़ा पार्ट होता है क्योंकि बिजनस लोग ऑनलाइन Ads चलाने के लिए आपसे ही कान्टैक्ट करेंगे और आपको सही टारगेट करके ज्यादा से ज्यादा कन्वर्शन लाकर देना होगा बिजनस को।

यूट्यूब मार्केटिंग ( YouTube Marketing )

इस टाइप के मार्केटिंग मे आपको यूट्यूब पर अपना चैनल या विडिओ का Ads चलाने के बारे मे पढ़ाया जाता है और साथ मे ये भी बताया जाता है की यूट्यूब विडिओ का सही से SEO कैसे करते है जिससे की आपका विडिओ ज्यादा लोगो तक पहुंचे और आपका विडिओ जल्दी से रैंक करे।

जब आपका विडिओ किसी कीवर्ड पर सबसे ऊपर आएगा तो जाहीर सी बात है की उसमे ज्यादा से ज्यादा व्यू आएगा और आपका चैनल जल्दी से ग्रो करेगा इसलिए इसको पढ़ाया जाता है।

ईमेल मार्केटिंग ( Email Marketing )

ईमेल मार्केटिंग मे आपको पढ़ाया जाता है की ईमेल मार्केटिंग कैसे किया जाता है जिससे ज्यादा से ज्यादा आपका कन्वर्शन आ सके, जैसे की किसी के पास वैसे लोग के ईमेल लिस्ट है जो की आपके बिजनस से रिलेटेड है तो उनसे वो लिस्ट आप लेकर उनको कस्टमाइज़ ईमेल भेजेंगे और अपने प्रोडक्ट या बिजनस के बारे मे बताते है तो जब वो क्लिक करके आपके बिजनस या प्रोडक्ट को लेते है या फिर नहीं लेते है यही दो चीज होगा, तो जब आप ईमेल भेज दिए उसको तो उसी को ईमेल मार्केटिंग कहते है।

पे पर क्लिक ( Pay Per Click )

इसमे आपको इंटरनेट के सर्च मे Ads शो करने के लिए पढ़ाया जाता है जैसे की अगर आपका कोई बिजनस है और वो सर्च इंजन आप्टमज़ैशन से ऊपर रैंक नहीं हो रहा है और आप चाहते है की जल्दी से जल्दी आपको कन्वर्शन मिले तो उसके लिए आपको इस चीज का उपयोग किया जाता है।

आप इंटरनेट पर कुछ सर्च करते है तो ऊपर मे 4 स्लॉट मे Ads शो होता है और नीचे मे भी 3 या 4 स्लॉट मे Ads होता है तो उसी को पे पर क्लिक कहते है जिसमे जितना बार लोग उसके ads पर क्लिक करेंगे उतना हर एक क्लिक पर पैसा कटेगा। इसलिए इसको पे पर क्लिक कहते है।

अफिलीएट मार्केटिंग ( Affiliate Marketing )

इसमे आपको अफिलीएट मार्केटिंग कैसे करते है उसके बारे मे बताया जाता है जिससे की आप अफिलीएट मार्केटिंग करके कुछ कमाई कर सके, जैसे की बहुत सारे वेबसाईट है जिसमे आपको प्रोडक्ट मिल जाता है और उसको जब अपने लिंक के द्वारा आप सेल करवाते है तो उसके बदले आपको पैसा मिलता है।

अर्न मनी ( Earn Money )

इसमे आपको बताया जाता है की डिजिटल मार्केटिंग कोर्स करने के बाद किस किस मेथड से पैसा कमा सकते है क्योंकि आप कोई भी कोर्स पैसा कमाने के लिए करते है, तो इसमे आपको वही बताया जाएगा की किस किस चीज से आप पैसा कमा सकते है।

एप्पस आप्टमज़ैशन ( Apps Optimization )

इसमे आपको प्ले स्टोर पर जितना Apps दिखता है उसमे अपना Apps को कैसे ऊपर रैंक करना है उसके बारे मे बताया जाता है और साथ मे Ads चलाकर कैसे अपना Apps को ऊपर ला सकते है उसके बारे मे बताया जाता है।

ये भी पढे –

डिजिटल मार्केटिंग में क्या क्या सिखाया जाता है?

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कितने दिन का होता है?

डिजिटल मार्केटिंग कैसे की जाती है?

क्या मैं 12वीं के बाद डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कर सकता हूं?

Conclusions

तो दोस्तों आशा करता हूँ की आपको आज का ब्लॉग पसंद आया होगा जो की डिजिटल मार्केटिंग कितने प्रकार के होते हैं? ( Types Of Digital Marketing In Hindi ) से रिलेटेड था और अगर इससे रिलेटेड किसी तरह के मन मे डाउट हो तो नीचे कमेन्ट जरूर करे।

Related Posts

One thought on “डिजिटल मार्केटिंग कितने प्रकार के होते हैं? : Types Of Digital Marketing In Hindi – TechyHindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.